Sahara India Payment Kab Hoga | Sahara Ka Bhugtan Kaise Karaye | Sahara Bhugtan 2022 | Sahara Ka Paisa Kab Milega 2022 | Sahara Ka Paisa Kab Tak Milega | Sahara Sebi News | Sahara India Latest News Today in Hindi | Sahara India News | Sahara India Bank | Good News

Spread the Info

वर्ष 2012 से भारत में सहारा इंडिया परिवार में मचा हुआ घमासान है। कारण  है कि Sahara India परिवार की  बचत योजनाओं पर Securities and Exchange Board of India (SEBI) ने शिकंजा कस दिया है।

Sahara India Latest News Today in Hindi – सहारा इंडिया परिवार में नया समाचार यह है कि भारत के उच्‍चतम न्‍यायालय ने ब्रत राय सहारा तथा कंपनी के अन्‍य 2 निदेशकों को अगले आदेश तक व्‍यक्तिगत पेशी से छूट दे दी है।

यह मुकदमा सेबी सहारा खाते में 25,700 करोड़ रूपये जमा न करने से संबंधित है।

Table of Contents

Sahara India Payment Kab Hoga : सहारा इंडिया का पैसा कब मिलेगा 2022

Sahara India Payment
Sahara India Payment kab Hoga

Sahara India Payment date in Hindi : लोगों से सहारा कंपनी पैसा तो ले रही है, लेकिन अपने निवेशकों को परिपक्‍वता की स्थिति में पैसा लौटा नहीं रही है। सहारा के खिलाफ पूरे देश में धरना प्रर्दशन हो रहा है लेकिन सरकारों के संरक्षण के चलते सहारा पर कोई कार्रवाही नहीं की जा रही है।

सहारा इंडिया भुगतान के लिये पुलिस हेल्‍पलाइन नंबर झारखंड (सहारा का भविष्‍य खतरे में )

झारखंड में 10 मार्च 2022 को विधानसभा में बजट सत्र के दौरान झारखंड के निवेशकों के 2500 करोड़ रूपये फंसे होने के मामले चर्चा हुई थी।

झारखंड की हेमंंत सोरेन सरकार ने निवेशकों  के लिये हेल्‍पलाइन नंबर जारी किया है। निवेशक इस नंबर पर शिकायतें दर्ज कर सकेंगें। शिकायत मिलने के बाद वित्‍त विभाग, CID (आर्थिक अपराध शाखा, झारखंड) के साथ मिल कर जांच और Sahara Ka Bhugtan दिलाने में सहायता करेगा।

Police Helpline Number Jharkhand for Sahara Payment – 112

Sahara India Payment न होने के प्रमुख कारण क्‍या हैं?

कंपनी का 24,000 करोड़ रूपये से अधिक का पैसा सेबी खाते में फंसा हुआ है। स्थिति तब और अधिक खराब हो गई जब न तो सेबी ने, न ही सहारा ने आम निवेशकों को भुगतान किया ।

सहारा कंपनी के तमाम बैंक खातों पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लेनदेन पर रोक लगा दी है। जिसके कारण सहारा का पैसा बैंकों में फंस गया। इसी कारण कंपनी नकदी के संकट से जूझ रही है और वह लोगों को पासबुक की मैच्‍योरिटी अवधि पूरी हो जाने के बाद भी भुगतान नहीं कर रही है।

दूसरा कारण यह है, कि निवेशक भी अब योजनाओं में धन जमा करने से कतराने लगे हैं। जिस वजह से अब नये खाते नहीं खुल रहे हैं, इस कारण भी कंपनी के पास पर्याप्‍त मात्रा में पैसा नहीं पहुंच रहा है।

Sahara India Payment न होने की स्थिति में क्‍या हमें नया खाता खोलना चाहिये?

सहारा की सभी कंपनियां इस वक्‍त अपने बुरे दौर से गुजर रही हैं। इसलिये आपको Sahara India 2022 Payment न होने की स्थिति में  इस कंपनी में नये खाते खोलने से बचना चाहिये। यदि नया खाता खोल कर  पैसा जमा करते हैं, तो भुगतान संकट के चलते यह पैसा भी फंस जाएगा तथा सहारा का भुगतान कब होगा? कैसे होगा तथा होगा भी या नहीं यह कोई नहीं जानता।

क्‍या Sahara Bank है अथवा चिटफंड कंपनी?

What is Sahara Bank in Hindi : भारत में बहुत से ऐसे लोग हैं, जो सहारा इंडिया परिवार की कंपनी को Sahara Bank (सहारा बैंक) कहते हैं। जबकि यह गलत है। सहारा कोई बैंक नहीं है। न तो यह राष्‍ट्रीयकृत बैंक है और न ही निजी अथवा सहकारी ग्रामीण बैंक।

चूंकि सहारा इंडिया परिवार की कंपनियों का गठन चिटफंट नियमों के तहत किया गया है, इसलिये उसे सहारा बैंक कह कर पुकारना किसी भी दशा में उचित नहीं है।

क्‍या सहारा भारत की एक बहुत बड़ी कंपनी है?

सहारा इंडिया देश में अनेक कंपनियों को संचालित करता है। जिसमें उसकी रियल स्‍टेट कंपनियां,  प्रिंट मीडिया, मीडिया ग्रुप तथा अनेक सेक्‍टर में दर्जनों कंपनिया मौजूद हैं। आपकी जानकारी के लिये बता दें कि चिटफंट कंपनी सहित सभी कंपनियों का वार्षिक टर्नओवर लाखों करोड़ रूपयों का है।

सहारा का पैसा कब मिलेगा? क्‍या सहारा पर भरोसा किया जा सकता है?

सहारा पैसा कब देगी? कंपनी ने नवम्बर 2022 में निवेशकों का भुगतान करने का भरोसा दिलाया है । सहारा करीब 40 साल से काम कर रहा है। उनकी कंपनियों ने जनता से जमा कराये रूपयों का समय से भुगतान किया है।

इस कंपनी ने अपने निवेशकों को समय से पैसा लौटाया है। कुछ ऐजेंटों की लापरवाही के चलते ही निवेशक भुगतान में देरी के शिकार हुये हैं, लेकिन कंपनी ने हमेशा लोगों का भुगतान समय से ही किया है। इसलिये इस कंपनी पर भरोसा किया जा सकता है।

पूरे उत्‍तर भारत में सहारा के बराबर वाली कोई दूसरी कंपनी नहीं है। यह एक मात्र ऐसी कंपनी है, जिसमें करोड़ों निवेशकों के अनेक खाते हैं। यदि यह कंपनी पुन: निवेशकों को समय से Payment करना शुरू कर दे तो इस पर भरोसा किया जा सकता है। लेकिन यह भरोसा सिर्फ सहारा इंडिया परिवार ही जता सकता है।

Sahara SEBI Vivad कब खत्‍म होगा?

सहारा की बचत योजनाओं को लेकर सेबी में जांच चल रही है। जिनमें गड़‍बडि़या पायी गयी हैं। जिससे रियल स्‍टेट बांड योजना को सेबी के द्धारा बंद किया जा चुका है।

जिसके बाद सेबी ने रियल स्‍टेट बांड योजना में निवेश किये गये पैसे को सेबी के पास जमा करने का आदेश जारी किया गया था। जिसके बाद मामला कोर्ट में गया और सहारा को सेबी सहारा खाते में 24 हजार करोड़ रूपये के लगभग इसमें जमा भी करनी पड़ी है।

अभी चूंकि यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है, इसलिये हाल फिलहाल सहारा सेबी विवाद खत्‍म होनें की कोई संभावना नजर नहीं आ रही है।

इस विवाद का पटाक्षेप माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ही संभव हो सकता है। इसलिये निवेशकों को फैसले की प्रतीक्षा करनी चाहिये।

Sahara India Paisa Kab degi यह बहुत कुछ कोर्ट के फैसले पर निर्भर करता है। चूंकि सहारा की बचत योजनाओं में अधिकांश पैसा गरीब तथा कमजोर वर्ग के लोगों का पैसा जमा जमा है। इसलिये कोर्ट को इस पर जल्‍दी ही कोई आम निवेशकों के हित में फैसला देना चाहिये।

सेबी को सहारा मामले में कुल कितने दावे मिले हैं?

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड को सहारा मामले में अब तक कुल 20 हजार से भी कम के दावे मिले हैं। इनमें से 2 तिहाई लोगों को कुल 106.10 करोड़ रूपये सेबी ने लौटा भी दिये हैं।

सहारा समूह ने अपने रियल इस्‍टेट बांड स्‍कीम के तहत निवेशकों से 24,000 करोड़ रूपये की धनराशि जुटाई थी। इसलिये सेबी द्धारा निवेशकों को लौटाई गयी रकम कुल वसूली का 1 प्रतिशत भी नहीं है।

विवाद की जड़ में सहारा इंडिया रियल इस्‍टेट कॉरपोशन तथा सहारा हाउसिंग इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन नाम की 2 कंपनियां हैं। सेबी ने इन्‍ही दोनों कंपनियों को 2011 में निवेशकों से जुटाया गया धन वापस लौटाने का आदेश जारी किया था।

सहारा इंडिया रियल इस्‍टेट कॉरपोशन तथा सहारा हाउसिंग इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन के मामले में सहारा इंडिया का क्‍या कहना है?

एक ओर जहां सेबी सहारा इंडिया रियल इस्‍टेट कॉरपोशन तथा सहारा हाउसिंग इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन के द्धारा जुटाये गये धन को निवेशकों को लौटाने का आदेश जारी कर रही है, वहीं दूसरी ओर सहारा समूह के वकील गौतम अवस्‍थी का यह कहना है कि चूंकि सेबी के पास 1 फीसदी से भी कम के दावे निवेशकों ने दायर किये हैं।

इससे पता चलता है कि सहारा बैंक अपने 95 प्रतिशत से अधिक निवेशकों का पैसा वापस कर चुकी है। इसलिये वह कोर्ट से यह मांग करते हैं, कि सेबी के पास जो पैसा जमा है, वह एक प्रकार का दोहरा भुगतान है। इसलिये सेबी के पास सहारा के द्धारा जमा की गयी 24,000 करोड़ रूपये से अधिक की निष्क्रिय पड़ी रकम को सहारा को पुन: वापस लौटा दिया जाए। ताकि इस रकम का उपयोग सहारा इंडिया परिवार के कारोबार को बढ़ाने में किया जा सके।

क्‍या Sahara India Payment कर चुकी है? क्‍या रियल इस्‍टेट व सहरा हाउसिंग का पैसा कंपनी ने वास्‍तव में अपने निवेशकों को लौटा दिया है?

जैसा कि सहारा समूह के वकील सुप्रीम कोर्ट में यह दावा कर रहे हैं, कि सहारा इंडिया परिवार ने निवेशकों के रियल इस्‍टेट बांड व सहारा हाउसिंग बांड का पैसा अपने स्‍तर पर आम निवेशकों को लौटा दिया है। यह सच नहीं है।

असल में सहारा इंडिया परिवार ने सहारा सेबी विवाद शुरू होने के बाद एक खेल खेला है। एक और उसने सेबी के आदेश को चुनौती दी तो दूसरी ओर रियल इस्‍टेट बांट तथा सहारा हाउसिंग कॉरपोरेशन की स्‍कीमों के तहत जुटाया गया पैसे को आम निवेशक को लौटाने के बाद Q – Shop के बांड में तब्‍दील कर दिया।

सहारा के इस कदम को कंपनी के एजेंटों ने निवेशकों को समझा बुझा कर परवान चढ़ाया है। यही कारण है कि सेबी के पास जमा 24,000 करोड़ रूपये की धनराशि को लेने के लिये निवेशकों ने कोई दावा नहीं जताया है।

जिसकी वजह से सहारा इंडिया परिवार सुप्रीम कोर्ट में लगातार इस बात को उठा रहा है कि चूंकि कंपनी निवेशकों का पैसा लौटा चुकी है। इसलिये उसे सेबी के पास जमा रकम को लौटाने का आदेश जारी किया जाये।

क्‍या सहारा ने Q – SHOP Bonds का भुगतान कर दिया है?

जैसा कि हमनें आपको ऊपर बताया कि सहारा समूह ने सहारा इंडिया रियल इस्‍टेट कॉरपोशन तथा सहारा हाउसिंग इन्‍वेस्‍टमेंट कॉरपोरेशन की जमा योजनाओं में जमा धन को निवेशकों के धन को वापस लौटाने के बजाये क्‍यू शॉप नाम की नई कंपनी खोल कर नये Fix Deposit Bonds में बदल दिया था।

अर्थात निवेशकों को किसी प्रकार की कोई नकद रकम सहारा परिवार की ओर से नहीं दी गयी थी। निवेशकों के हाथ सिर्फ Q – SHOP Bond लगा था। यह बांड 5 साल 6 माह की अवधि में परिपक्‍व होने थे। यह अवधि बीत चुकी है। क्‍यू शॉप बांड परिपक्‍व भी हो चुके हैं। लेकिन इन क्‍यू शॉप बांड का पैसा भी अभी सहारा ने आम निवेशकों को नहीं लौटाया है।

इसलिये आप यह कह सकते हैं कि रियल इस्‍टेट बांड तथा सहारा हाउसिंग की जमा योजनाओं का धन सहारा ने अपने स्‍तर से मार्च 2021 तक भी अपने निवेशकों को लौटाया नहीं है।

सहारा Q – Shop Bonds की मैच्‍योरिटी के बाद कंपनी ने क्‍या किया? (Very Important for Sahara Investors 2022)

Sahara India Payment Kab Hoga
Sahara India Payment Kab Hoga

चूंकि सहारा समूह इस समय भुगतान संकट से जूझ रहा है। इसलिये 2012 में रियल इस्‍टेट बांड को क्‍यू शॉप बांड में जारी किया गया था। जिसका भुगतान सहारा इंडिया परिवार ने परिपक्‍वता अवधि बीत जाने के बाद भी नहीं किया है।

बल्कि इस रकम को अगले 5 साल में 2 गुना करने का लालच देकर पुन: अपनी फिक्‍स डिपाजिट स्‍कीम में बांड के रूप में जमा करवा लिया है।

तथ्‍य को आप आप इस तरह समझिये। सहारा सेबी विवाद शुरू = 

सेबी ने पैसा निवेशकों का पैसा लौटाने के लिये रकम की मांग की = सहारा ने रकम देने से इंकार किया = मामला कोर्ट में गया = कोर्ट ने सहारा को 24,000 करोड़ रूपये सेबी के खाते में जमा करने का आदेश दिया = सहारा ने रकम कोर्ट के आ‍देश के बाद सेबी के खाते में जमा कर दी + पलटवार करते हुये सहारा ने रियल इस्‍टेट बांड तथा सहारा हाउसिंग की जमा योजनाओं में जमा धन को Q – SHOP बांड में तब्‍दील कर निवेशकों को भुगतान का भरोसा दिलाया = कोर्ट में सहारा ने कहा कि उसने निवेशकों का धन लौटा दिया है इसलिये सेबी के खाते में जमा धन उसे वापस लौटा दिया जाये + मामला अभी भी कोर्ट में विचाराधीन है = Q – SHOP बांड परिपक्‍व हो गये पर सहारा ने निवेशकों को पैसा नहीं लौटाया +  Q – SHOP बांड मैच्‍योर होने के बाद उन्‍हें भी लालच देकर अगले 5 साल के लिये Fix Deposit में बदल दिया = नतीजा यह हुआ कि 10 साल बीत जाने के बाद भी लोगों को उनका पैसा अब तक नहीं मिल पाया है।

क्‍या अन्‍य योजनाओं में जमा पैसे का भुगतान सहारा इंडिया समूह कर रहा है?

जी नहीं, इस समय हालात बहुत बुरे हैं। सहारा समूह के द्धारा दर्जनों की संख्‍या में बचत योजनायें चलाई जा रही है। इन योजनाओं में जो निवेशक अपना पैसा जमा करते हैं, उनका भुगतान भी सहारा समूह के द्धारा पिछले 5 वर्ष से नहीं किया जा रहा है। जिसकी वजह से निवेशक खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं।

किसी को नहीं मालूम कि Sahara Ka Paisa Kab Tak Milega चूंकि सहारा अब लोगों का भरोसा खोती जा रही है। इसलिये आम लोग इस कंपनी में नये खाते नहीं खुलवा रहे हैं। निवेशकों का साफ कहना है, कि जब खातों का भुगतान ही नहीं हो रहा तो वह नया पैसा क्‍यों फंसायें?

Sahara Official lLinkClick Here
Home PageClick Here
Contact SaharaClick Here

Also Read,

Best Smartphone under 13000 | 128 GB | 8GB Phone

MPPSC State Service 2022 Exam Prelims

SSC CGL 2022 Exam Date & Call Letter Out for Tier-1 Exam | Latest News

UPSC NDA 1 2022 Exam on 10th April (Sunday): Check Exam Centre List & Admit Card Rules for Male & Female Candidates

JAC 2022 Board Exam Latest Time Table

RRB NTPC and Group D Concerns Online Form 2022 | Apply before Last Date

NDA Syllabus 2022 PDF Download in Hindi/ English Exam Pattern | Top news on NDA

UKSSSC Constable Recruitment 2022 Fireman! Apply Online |Latest Update

National Career Service
Sahara India Payment Kab Hoga
National Career Service

Spread the Info

2 thoughts on “Sahara India Payment Kab Hoga | Sahara Ka Bhugtan Kaise Karaye | Sahara Bhugtan 2022 | Sahara Ka Paisa Kab Milega 2022 | Sahara Ka Paisa Kab Tak Milega | Sahara Sebi News | Sahara India Latest News Today in Hindi | Sahara India News | Sahara India Bank | Good News”

Leave a Comment